Seo Kya Hai?- 2021 में search engine optimization कैसे करें पूरी जानकारी हिंदी में

आज मैं इस पोस्ट के माध्यम से मैं आपको search engine optimization क्या हैं? इसी के बारे में बताऊंगा तो चलिये जानतेे है।

दोस्तों यदि आप नये ब्लॉगर है तो आपके लिये यह जानना बहुत ही जरूरी है कि seo kya hai? क्योंकि seo ब्लॉगिंग का एक महत्वपूर्ण अंग हैं बिना इसके आप ब्लॉगिंग में कभी सफल नहीं होंगे।

Seo एक प्रकार की setting है जिसे करके हम अपने वेबसाइट को search engine में दिखाने और rank कराने के लिये तैयार करते हैं।

यदि हम इसको अच्छे तरीके से ना करें तो हमारी वेबसाइट search engine में भी नहीं आएगी।

यह ऐसा तरीका हैं जिसके माध्यम से हम अपने website और blog post दोनों को optimize करते है इसको हम search engine optimization कहते हैं।

अगर हम seo अच्छे तरीके से करते हैं तो हमारी वेबसाइट search engine में rank करेगी और पहले page पर भी show होगी।

जिससे कि हमारी वेबसाइट पर ज्यादा traffic आयेगा और हमारी कमाई भी अच्छी होगी।

आपकी वेबसाइट पर organic traffic लाने में seo काफी मदद करता है क्योंकि अगर आप seo अच्छे तरीके से करेंगे।

तभी आपकी वेबसाइट search engine में rank करेगी और वहीं से आपकी वेबसाइट पर अच्छी traffic आएगी।

जो लोग नये ब्लॉगर होते है उनके लिए seo के बारे में जानना बहुत ही जरूरी होता है बिना seo के कभी वह सफल ब्लॉगर नहीं बन पायेंगे।

सभी लोग अपनी वेबसाइट को first page पर ही लाना चाहते है और इसके लिए यह जानना बहुत ही जरूरी है कि seo kya hai? क्योंकि search engine optimization ही एकमात्र ऐसा तरीका है जिसकी मदद से ऐसा किया जा सकता।

पिछले पोस्ट में हमने ब्लॉग क्या है? और इससे पैसा कैसे कमाये? के बारे में जाना था

और ब्लॉगिंग में आगे बढ़ने के लिए आपको यह भी जानना भी बहुत जरूरी है कि what is seo in hindi.

Seo का full form क्या हैं?

Seo का full form search engine optimization है जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है कि website को search engine के लिए optimize करना ही seo कहलाता है।

Types Of Search Engine optimization- seo के प्रकार:-

Seo तीन प्रकार से करते है जो इस प्रकार है:-

  • On-Page Seo

Seo का प्रकार जिसमें blog पोस्ट के अंदर seo करते है जिसमें keyword placement, अच्छी किस्म की responsove theme का उपयोग करें।

Focus Keyword placement करके एक अच्छा meta description लिखना जिससे कि search engine में rank करने में आसानी होगी और इससे आपके वेबसाइट पर traffic भी बढ़ेगी।

On Page Seo कैसे करें? How On Page Seo is Done?

On page seo में भी कई चीजें करनी पड़ती है तब जाके on page seo पूरा होता है तो चलिए विस्तार में जानते है।

  • Keyword Research करना

यह on page seo का पहला कदम है जब हम कोई भी ब्लॉग पोस्ट लिखना शुरू करते है तो सबसे पहले हम keyword research करते है।

जिससे कि हमें यह पता चलता है कि लोग उस particular topic के बारे में क्या search कर रहे है।

अलग अलग keyword planner tools के मदद से हम देखते है उस keyword में comptition level क्या है और monthly कितना traffic है जिससे कि हमें बहुत ही मदद मिलता है।

यदि comptition level low रहता है तब कम मेहनत में ही हमारा पोस्ट google में rank कर जाता है।

अगर आप नए ब्लॉगर है तो आपको हमेशा long tail keyword का ही उपयोग करना चाहिए क्योंकि long tail keywords google में जल्दी रैंक करते है।

  • Website Designing

यह भी on page seo में ही आता हैं हमें हमेशा एक responsive template का ही प्रयोग करना चाहिए क्योंकि इससे वेबसाइट की speed भी boost होगी।

यदि वेबसाइट की design अच्छी होगी तो user engagement भी बढ़ेगी और यूजर आपकी वेबसाइट पर ज्यादा समय बिताएगा।

जिससे कि आपकी bounce rate भी ठीक रहेगा।

वेबसाइट में सभी policy pages जैसे about us privacy policy इत्यादि भी होने चाहिए ये भी on page seo का ही अंग है।

  • Title Tag

इसका मतलब है website और इसके प्रत्येक पोस्ट का title हमेशा पोस्ट का title एकदम catchy और attractive होना चाहिए जिसे एक बार देखकर user पढ़ने को मजबूर हो जाये।

इससे आपकी वेबसाइट की CTR भी increase होगी title tag कम से कम 60 words का होना चाहिए इससे ज्यादा का title नहीं लिखना चाहिए क्योंकि तब वह सर्च इंजन में नहीं show होगा।

  • Internal Linking

यह एक तरह से on page seo का मुख्य step है आपके वेबसाइट के bounce rate को maintain करने के लिए आपको अपनी पोस्ट में internal linking करना बहुत ही जरूरी है।

Internal linking का मतलब होता है कि आप अपने ब्लॉग की दूसरे पोस्ट के link को हरेक पोस्ट ने लगा कर सभी posts को एक दूसरे से जोड़ दे।

इससे यदि कोई user आपकी एक पोस्ट पढ़ने आया तो यदि उसको वह post पसंद आया तो वह उस पोस्ट में लगे दूसरे पोस्ट के link पर भी click करेगा और उसको भी पढ़ेगा।

  • Permalink

Blog पोस्ट के url को ही permalink कहा जाता है हमेशा एक छोटा permalink रखना चाहिए और अपने focus keyword को इसमें जरूर add करना चाहिए।

इसमें stop words जैसे कि is, am, are का उपयोग न करें इसे हमेशा simple ही लिखे जिससे कि गूगल को इसे समझने में आसानी हो।

  • Meta Discription

ये वह discription है जो कि search engine में वेबसाइट के url के नीचे दिखाई देती है यह कम से कम 150 words की होनी चाहिए।

हमेशा आपके focus keyword को इसमें जरूर add करे और ऐसा discription लिखे की जो कोई पढ़े पोस्ट को बिना पढ़े न रह पाये।

  • Extenal Links

आप अच्छे Domain Authority और Page Authority वाले वेबसाइट की link भी लगा सकते हो जैसे कि विकिपीडिया की links भी लगा सकते हो।

इससे user को उस topic के बारे में विस्तार से जानकारी भी मिल जाएगी।

  • Social Share Buttons

अपने पोस्ट में social sharing buttons links जरूर लगाएं जिससे कि user के पढ़ने के बाद यदि उसे वह पोस्ट पसंद आई

तो वह अपने दोस्तों के साथ भी share करे और इससे आपकी ब्लॉग की growth और भी increase हो।

  • Content

Content भी एक बहुत ही जरूरी अंग है on page seo का क्योंकि यदि आप quality content नहीं लिखेंगे।

तो आप कभी भी सफल नहीं होंगे आप कम से कम 1000 words के article जरूर लिखे।

आप अपने focus keyword को H1,H2,H3 में जरूर लिखे यह भी seo का ही तरीका है आप जितना बड़ा content लिखेंगे seo उतना ही अच्छे तरीके से होगा।

ध्यान रहे content copyright न हो नहीं तो आप उसे कभी Index नहीं कर पाएंगे।

  • Off Page Seo

इस प्रकार का seo पोस्ट publish होने के बाद किया जाता हैं।

जैसे कि backlinks बनाना और दूसरे तरीके से अपने पोस्ट की link को दूसरे की पोस्ट में लगाना।

  • Backlinks

यह बहुत ही जरूरी होता हैं इससे आपकी वेबसाइट की page authority और domain authority बढ़ती है।

यह एक वेबसाइट को दूसरे वेबसाइट को जोड़ती है इसमें अपनी वेबसाइट की link दूसरी की वेबसाइट पर लगाया जाता है।

जिससे उस वेबसाइट पर जो लोग आते है वह आपकी वेबसाइट पर भी आयेंगे।

इसे बनाने के बहुत से तरीके है जैसे कि guest posting वेबसाइट owner को कुछ पैसा देकर ले सकते है।

  • Guest Post

जैसा कि मैंने बताया कि दूसरे की ब्लॉग पर guest posting करने से भी हमें dofollow backlink मिल जायेगा।

जिससे कि हमारी वेबसाइट की domain authority भी बढ़ेगी।

  • Discussion Sites

यह उस प्रकार की वेबसाइट होती है जिस वेबसाइट पर लोग सवाल जवाब करते है जैसे कि Quora इसका नाम भी आपने सुना ही होगा।

आप भी Quora पर एक account बनाये और अपनी niche के अनुसार प्रश्न देखकर उसका जवाब दे और पोस्ट के अंत में अपनी ब्लॉग की link को लगा दे।

जिससे कि यदि user को जवाब पसंद आएगा तो वह आपके वेबसाइट पर भी आएगा।

  • Local Seo

इसमें हम अपनी वेबसाइट को local area के users के लिए optimize करते है जैसे कि हम india के है।

तो हम india के users के लिए optimize करते है और उसी हिसाब से keyword placing भी करते है।

इसमें आपको पूरे internet को target नहीं करना होता है।

सिर्फ अपने local area के लोगों को target करते है उन्हीं के जरूरत के हिसाब से setting करेंगे।

Seo ब्लॉग के लिए क्यों जरूरी है

मुझे आशा है कि आपको seo kya hai? यह समझ में आ गया होगा अब यह जानना जरूरी है कि आखिर यह ब्लॉग के लिए क्यों जरूरी हैं तो चलिए।

बिना seo किये आपका ब्लॉग कभी सफल नहीं होगा तो seo ब्लॉग की सफलता का बहुत ही बड़ा राज है यदि आप seo सही ढंग से नहीं करेंगे।

तो आपका ब्लॉग पोस्ट search engine में कभी रैंक नहीं करेगा।

यदि आपकी वेबसाइट search engine के पहले या दूसरे पेज पर नहीं दिखेगी तो आपके वेबसाइट पर traffic बहुत ही कम आएंगे।

और आपकी कमाई भी नहीं हो पाएगी इसलिए हर नजरिये से seo ब्लॉग के लिए जरूरी है।

SERP क्या होता है?

Internet पर लाखों posts है लेकिन हम जो सर्च करते है उसी तरह के posts को दिखाई जाती है यही वह तरीका है जिसे हम SERP कहते है।

SERP का Full Form क्या हैं?

SERP का full Form Search Engine Result Pages है।

Final Words On Seo

मुझे उम्मीद है कि इस article को पढ़ने के बाद आपको seo kya hai?-What is seo? समझ में आ गया होगा।

यदि आपको इस विषय में कुछ Doubt हो तो comment बॉक्स में comment करें मैं आपके queries solve करने की कोशिश करूंगा।

Leave a Comment